महबूबा मुफ्ती रिहा होने के बाद कहाँ : काले दिन का काला फैसला 370


महबूबा मुफ्ती रिहा होने के बाद कहाँ : काले दिन का काला फैसला 370 


जैसा की आप जानते है की जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती जेल मे थी और उनकी करीब 14 महीने बाद रिहा कर दिया गया. आज हम इसी की बारे मे डिटेल्स जानने वाले है चलिए जानते है विस्तार से..




जम्मू एंड कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को आखिरकार 14 महीने बाद रिहा कर दिया है जम्मू कश्मीर के प्रवक्ता रोहित यह जानकारी दी की, पूर्व मुख्य मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को रिहा कर दिया गया है बता दें कि जन सुरक्षा अधिनियम की PSA के तहत महबूबा मुफ्ती को 1 साल से अधिक समय तक हिरासत में रखा. 




5 अगस्त साल 2019 जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने के साथ ही महबूबा मुक्ति पी एस आय के तहत हिरासत में ले लिया गया था. तब से अब तक उनकी हिरासत की अवधि बढ़ाई गई है. आखिरकार 14 महीने 8 दिन बाद जम्मू कश्मीर प्रशासन ने उन्हें मंगलवार यानी 13 अक्टूबर को रिहा करने का फैसला कर दिया है. रिहा होने के बाद महबूबा मुक्ति में अपने अधिकारी ट्विटर अकाउंट से एक संदेश जारी किया, जिसमें आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाए जाने फैसले पर वार किया और कहां “कश्मीर का संघर्ष जारी रहेगा”

 


Also Read : #boycottTanishq क्या है मामला देखे वो ads 



मेहबूबा मुफ़्ती ने दिया ऑडियो सन्देश 


ऑडियो संदेश में उन्होंने कहा ” मैं आज 1 साल के बाद रिहा हुई, इस दौरान 5 अगस्त 2019 काले दिन का काला फैसला मेरे दिल पर वार करता राहा और मुझे आशा है की जम्मू कश्मीर की तमाम लोगों की यही कैफियत रही होंगी हमसे कोई भी शख्स उस दिन की डाकजनी और बेजती को कोई भूल नहीं सकता. अब हम सबको इस बात पर यह अदा करना होगा, जो दिल्ली दरबार में 5 अगस्त को गैर आईनी गैर जमूरि, गैर कानूनी तरीके के से हम से छीन लिया गया. इसे वापस लेना होगा बल्कि उसके साथ मचले कश्मीर वजह से हजारों लोगों ने अपनी जान निछावर की, उसको हल करने के लिए हमारी जग्गो जहत जारी रखनी होंगी. मैं मानती हूं ये राह आसान नहीं होंगी, लेकिन मुझे यकीन है कि हम सब का हौसला और आजम यह दुश्वार रास्ता तय करने में मोवीयिन होंगा. आज जब कि मुझे रिहा कर दिया गया है मैं चाहती हूं कि जम्मू-कश्मीर की जितनी भी लोग मुख्तलिफ जेलों में बंद पड़े हैं, उन्हें जल्द से जल्द रिहा कर दिया जाए”.


Thank you Stalin ji for your good wishes & steadfast support https://t.co/6fBh2Iv6PL

— Mehbooba Mufti (@MehboobaMufti) October 14, 2020

 

इससे पहले 434 दिन के रिहाई के बाद महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजान ने उनके ट्विटर अकाउंट से कहाँ ‘कठिन समय में साथ देने वाले लोगों का धन्यवाद’ इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला में भी जीत पर खुशी जाहिर की,  उमर अब्दुल्ला ने महबूबा मुक्ति का स्वागत करता हु. तुमने निरंतर विरासत में रखा जाना लोकतंत्र की मूल सिद्धांतों के खिलाफ था. 


5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने के बाद PSI के तहत 444 लोगों को हिरासत में ले लिया गया था. इनमें से ज्यादातर लोगों को अब तक रिहा कर दिया गया है और कुछ लोगों को इस पर रिहा कर दिया गया है की वो कही भी राजनीतिक बयान जारी नहीं करेंगे. 




आर्टिकल 370 जब से निकाला गया था तब से मेहबूबा मुफ़्ती को हिरासत मे रखा गया था. 

Read Also