अर्णब गोस्वामी का जीवन सफर | Arnab Goswami Life

दोस्तों जैसा की हम जानते है की आज कल सोशल मीडिया के इस युग मे बहोतसे ऐसे न्यूज़ चैनल होते है जो TRP बढ़ाने के लिए काम करते है ये तो आप जनते हि है दोस्तों हमने आज एक ऐसे इन्सान के बारे मे जानने वाले है दोस्तों जिन्होने सोशल मीडिया से जुड़कर अपना सारा सफर सच्चाई की तरफ मोड़ दी है ये तो आप जानते ही है आज हम बात करने वाले है अर्णब गोस्वामी के बारे मे उनका सम्पूर्ण जीवन आज हम जानने वाले है दोस्तों. 



ARNAB GOSWAMI की काहानी | Arnab goswami का जीवन सफर / 
ARNAB GOSWAMI WIFE AND LIFE / बायोग्राफी 


आपको लग राहा होंगा की इसे हम क्यों पढ़े मे आपको बताना चाहता हु दोस्तों आप चाहे किसी भी क्षेत्र से क्यों ना हम हमेशा यही चाहते है आप ऐसे लोगो की काहानी पढ़ अपने जीवन मे आगे बढ़ने की प्रेरणा ले सकते है. कुछ लोग ऐसे होते है जो उनके जीवन मे हुई गलतियों से सीखते है मे भी यही चाहता हु दोस्तों और ऐसे ही कही कहानियाँ आपके लिए लाता रहता हु तो चलिए जानते है अर्णब गोस्वामी का जीवन सफर. 


अर्णव गोस्वामी एक ऐसे इन्सान है जो एशिया के न. वन न्यूज़ एंकर है दोस्तों लोग उन्हें बहोत प्यार करते है उनका अंदाज ही कुछ और है आपने शायद कभी देखा ही होंगा. 


दोस्तों मे आपको यहाँ एक बात कहना चाहता हु यह ब्लॉग किसी भी पार्टी या किसी चैनल का समर्थन नहीं करता. हम उन्ही लोगो के जीवन के बारे मे लिखते है जिनके जीवन से हर किसी को प्रेरणा मिले. 



अर्णव गोस्वामी का शुरवाती जीवन 

कहाँनी की शुरवात होती है 7 मार्च 1973 आसाम के गुहाटी मे ब्रामण परिवार मे उनका जन्म हुवा उनके पिता मनोरंजन गोस्वामी रिटायर आर्मी अफसर थे. उनकी माँ सुप्रभा गोस्वामी गृहिणी और लेखिका है. उनके पत्नी का नाम समयाब्रता राय गोस्वामी. उनके माँ ने एक बुक भी लिखी उसका नाम है डेज़र्टेड़ जो शार्ट कलेक्शन स्टोरी मे पब्लिश है. उनके पिता मनोरंजन गोस्वामी आर्मी मे होने के करना उनका प्राइमरी पढ़ाई अलग अलग शहर मे हुई. कॉलेज की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी हिन्दू कॉलेज से पढ़ाई की जहाँ उन्होने सोशलॉजी मे बैचलर डिग्री ली और 1994 मे ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी के सेण्ट एंटीनी सोशल एंथ्रोपोलॉजी मे मास्टर की डिग्री भी हासिल कर ली जब उनकी पढ़ाई पूरी हो चुकी थी इसके बाद सन 1995 मे जौर्नालिस्ट के रूप मे “The Telegraph” न्यूज़ पेपर से अपने करियर की शुरवात की पर वो संस्था मे ज्यादा दिन नहीं नहीं रहे. 



ARNAB GOSWAMI न्यूज़ चैनल का सफर 

एक साल से काम समय मे ही उन्होने छोड़ दिया इसके बाद NDTV Tv न्यूज़ चैनल से जुड़े जहाँ वो डेली न्यूज़ एंकर के तौर पर काम करने लगे साथ ही DD मेट्रो पर टेलीकास्ट होने वाले न्यूज़ पर भी एंकरिंग का भी काम करने लगे बेहतरीन काम के कारण उनका जल्द ही NDTV के कोर कमिटी मे जगह मिल गई, जहाँ उन्हें सीनियर एडिटर के रूप मे चुना गया. चैनल पर प्रसारित होने वाले न्यूज़ मे वही जिम्मेदार होते थे. फिर उन्होने DD मेट्रो छोड़ दिया वो NDTV मे डेली न्यूज़ के साथ साथ न्यूज़ नाईट को भी होस्ट करते थे. 


यहाँ उन्हें 2004 मे एशियाई के बेस्ट न्यूज़ एंकरिंग के लिए आसिआन टेलीविज़न अवार्ड मिला. 2006 मे उन्होने NDTV छोड़ दिया और टाइम्स नाउ को एडिटर इनचीफ एंकर के रूप मे ज्वाइन किया. इस चैनल पर रात 9 बजे प्रसारित होने वाले NewsHour का शो लिया करते थे जिसमे दुनिया की जानी मानी हस्तिया जैसे परवेज़ मुशर्रफ और राहुल बजाज जैसे लोग जुड़े थे. 


इसके साथ ही वो फ्रैंकली स्पीकिंग विथ अर्णव ऐसे प्रोग्राम भी प्रसारित करते थे. जिसमे वो बनर्जी भुट्टो, दलाई लामा, हिल्लरी क्विंटन लोकप्रिय लोगो का इंटरव्यू लिया करते थे. उनकी एक खासियत यह भी है की वो बिना स्क्रिप्ट के तेज तरार प्रश्न पूछते है और बेखौफ होकर पूछते है और जवाब देने वाला सोच मे पड़ जाता है. 


साथ ही वो अपने स्टाइल को भी प्रदर्शित करते है और उनके सवाल की एक एक बात कुछ अनोखी होती है, उन्होने अपनी जीवन मे बाहर देश मे बड़े बड़े हस्तियों के बिच अपने देश को डिबेट मे हिंसा लेकर लोगो को बहोत प्रभावित किया है. यही एक कारण है की लोग उनके news प्रसेन्टेशन के बड़े दीवाने है दोस्तों. 


रिपब्लिक भारत की नीव 

उनकी पॉपुलरिटी इससे ही मालूम होती है जब भी उनकी कोई डिबेट You Tube पर आती है तो viwes की मानो बरसात होती है लाखो लोग कुछ ही मिन्टो मे देख लेते है और उनके प्रोग्राम की TRP बाकि news के बजाय बहोत ज्यादा होती है दोस्तों. अर्णब  गोस्वामी साथ ही मे एक राइटर भी है सन 2002 मे combating टेररिज़म The लीगल चैनल के नाम से आतंग के विरुद्ध भारत के क़ानून को केंद्रित करके एक किताब भी लिख चुके है दोस्तों जिसे लोगो ने काफ़ी पसंद किया था. 


अर्णव गोस्वामी ने 1 नवम्बर 2016 को टाइम्स नाउ को अलविदा कहाँ इससे यह पता चला है की उनको खुदका news चैनल चलाना है. वैसे उनका सपना है की BBC और CNN जैसे ग्लोबल news जैसे चैनल भी भारत मे हो जिसकी मान्यता सारे विश्व मे हो, इसकी एक वजह यही भी बताई जाती है उन्होने news चैनल बनाया है. जिसका नाम है रिपब्लिक भारत ये चैनल 6 मे 2017 को शुरू हुवा और इंग्लिश मे ये चैनल शुरवात मे दोस्तों 
यह सफर काफ़ी चुनौती पूर्ण राहा है. इतने कम समय मे उनका चैनल आज एक नबर पर आता है. दोस्तों इससे हमें ये पता चलता है की सपना चाहे कितना भी बडा क्यों ना कोशिश, मेहनत और ईमानदारी इसे छोटा कर देता है. आशा करता हु की उनका यह सफर आपको प्रेरणा दे. 


Arnab goswami के विचार |
Arnab goswami के Quotes 


• “All Television News means is one sence of idealism and one camera and an audience nothing Else” 

• “In our reporting and in our relentless pursuit of the truth our nationalism is our strength our nationalism is our core and our nationalism will forever be our pride”

• “There is nothing in this business just a right and a wrong. In everything in life, you have to bring it down to the binary. Don’t tell me about the grow areas. Those people reside in the grey areas are those who are fooling themselves and won’t stick there necks out “


Read Also : 






अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे