Tukaram mundhe – IAS तबादलों मै माहीर अफसर का जीवन सफर

                                           image source 


दोस्तों आज हमने आपके लिए ऎसी कहाँनी लायी है जिसे सुन, चाहे आप कौनसे भी क्षेत्र मै क्यों ना हो ये कहाँनी पढ़ आपका हौसला बुलंद हो जायेगा, दोस्तों कहते है ” किस्मत को छोड़ो जब मेहनत का सिक्का  उछलता है तो हेड भी तुम्हारा और टेल भी तुम्हारा  “ ऐसा ही कुछ अपनी मेहनत से कर दिखाया है IAS Tukaram Mundhe जी ने आज हम ऐसे व्यक्तिमत्व के बारे जानने वाले है दोस्तों.


जैसे की आपने इनके बारे शायद कही पढ़ा होंगा या न्यूज़, You Tube के माध्यम से देखा ही होगा दोस्तों, उनके काम को लेकर और उनकी अपने खुद को डिसिप्लिन रखने का तरीका देख आज सारे देश मै उनके काम की तारीफ होती है तो चलिए दोस्तों जानते है. 


Tukaram Mundhe ( IAS ) का शुरवाती जीवन 


कहाँनी की शुरवात होती है 3 जून 1975 मै उनका जन्म महाराष्ट्र के बिड जिल्हे के एक छोटेसे गाव ताड़सोना मै हुवा. उनके पिताजी Haribhau mundhe पेशे से खेती किया करते, उनके पिताजी अपने खेत मै बहोत मेहनत किया करते और उसी मै उनका घर खर्च चलता था, Tukaram mundhe जी को बड़े भाई है वो पढ़ने के लिए बाहर गाव थे उनका भी खर्चा उनके पिताजी को उठाना पड़ता था. 


यही सब देख कर Tukaram mundhe जी ने अपने पिताजी को मदत के तौर पर वो भी अपने खेती मै जाकर पिताजी को मदत किया करते. हर रोज़ स्कूल से वापस आकर वह अपने खेती मै चले जाते थे और इसके साथ ही पढ़ाई भी किया करते, वो बचपन से ही डिसिप्लिन और पढ़ाई मै होनहार थे अपने स्कूल मै भी अच्छे रैंकिंग से मार्क्स लाते बहोत बार वो अपने खेत मै रात मै रहते क्युकि लाइट की दिक्कत के कारण उनको पानी के लिए रात मै ही खेती मै रुकना पडता था. ऐसेही 10th तक उनका सफर राहा और इसमे वो अच्छे मार्क्स के साथ उत्तीर्ण हुए, तब तक उन्होने खेती मै काम कर पढ़ाई कर मेहनत और लगन इस दोनों बातो को  आत्मसात कर लिया था. 


दसवीं उत्तीर्ण होने के बाद उनके गाव मै कॉलेज नही होने के कारण उनको शहर मै उनके बड़े भैया पढ़ाया  करते थे, उन्होने उनके पास जाने का निर्णय लिया. उनके भैया ने पास रहकर उनको बहोत अच्छा गाइड किया. 12th मै साइंस क्षेत्र मै एड्मिशन कर लि उनके भैया क्लासेस लिया करते और उसी मै उन दोनों का खर्चा चलता था. IAS अफसर का सपना उनके बड़े भाई का था इसलिए उनके बड़े भैया बाहर रहकर बच्चों को पढ़ाया करते थे, देखतेही देखते उनके भैया को IAS को पिछे छोड़ना पड़ा और उन्होने पढ़ाना शुरू किया था. तभी उनके भैया ने अपने छोटे भाई Tukaram mundhe जी पर ध्यान दिया और उनको पढ़ाई का पूरा फॉर्मेट समझाकर दिया उस समय Tukaram Mundhe 12th मे थे. 


Tukaram Mundhe IAS सफर 


उनके जीवन मै उनके बड़े भैया ने उनको बहोत अच्छा मार्गदर्शन किया वो चाहे डिसिप्लिन का हो या चाहे काम करने का तरीका उन्होने एक बार कहाँ है “मै किसी से नही डराता हु चाहे वो राजनैतिक व्यक्ति हो या चाहे कोई डॉन मै सिर्फ और सिर्फ अपने बड़े भैया से डराता हु ” अपने भैया के प्रति इतना स्नेह देख कर ही आप समझ चुके होंगे दोस्तों की उनके भैया ने उनकी कितनी मदत की है उनका यह स्टेटमेंट सोशल मीडिया पर बहोत छा गया था. 


12 th मै साइंस मै 92% मार्क्स मिले और इसके बाद उनको MPSC और UPSC के क्षेत्र मै जाने के लिए उन्होने ग्रेजुएशन का सफर आर्ट लेकर चालू किया. ग्रेजुएशन होने के बाद उन्होने MA के लिए एडमिशन लिया था राज्यशात्र मै अपनी मास्टर डिग्री भी कर ली.


इसके बाद UPSC की पहली exame दी पहले से UPSC के लिए तैयार Tukaram mundhe पहले ही अटेम्प मै प्री एग्जाम अच्छे मार्क्स से उत्तीर्ण हुए और बाद मै mains एग्जाम मै उनको अनुतीर्ण होने का सामना करना पड़ा. इसके बाद सेकंड एटेम्पट मै वह प्री अच्छे से उत्तीर्ण हुए और mains मै फिर अनुतीर्ण का सामना करना पड़ा. 


पर वो यहाँ तक रुके नही उन्होने इसमे पढ़ाई कर कमिया निकालकर पढ़ाई की इसके बाद प्री और mains भी क्लियर कर ली और इंटरव्यू मै उनका सिलेक्शन नही हुवा. इसके बाद उनमे निराशा छा गई और उन्होने क्लास 2 MPSC eaxame देने का इरादा किया उन्होने MPSC की बहोत पढ़ाई की और 2001 मै MPSC की exame दी पर इसका फाइनल रिजल्ट आते आते 2003 मै रिजल्ट आया पर इस बार वो क्लास 2 अफसर बन चुके थे. 


पर मन मै जो UPSC करने की आस थी वह नही गई थी उन्होने लास्ट अटेम्प के तौर पर परीक्षा देने का निर्णय लिया पर इस बार सब कुछ था कहते है ना ” जो सपने देखने की हिम्मत रखता है वो पूरी दुनिया जीत सकता है ” ऐसा ही कर दिखाया Tukaram mundhe जी ने और प्री mains और इंटरव्यू exame अच्छे मार्क्स से उत्तीर्ण की और इस बार वो IAS बन गए पुरे इंडिया मै उनकी रैंकिंग 20 थी. वो जब IAS बने तभी उन्होने ठान लिया था की पूरी जिंदगी डिसिप्लिन और न्यायिक के रूप मै काम करूँगा और आज दोस्तों हमें उनके खबरें पढ़ ऐसा ही दीखता है पुरे देश मै उनके काम के आज चर्चे है दोस्तों. 


                                image source 


वो IAS बनने के बाद उनके 14 साल के करियर मै उनकी बदली 15 बार बदली की जा चुकी है अब आप समझ लीजिए उनके काम करने का तरीका कैसा होंगा. 

आशा करता हु आपको यह स्टोरी जान कर कुछ हौसला मिला हो अपने जीवन मै आगे बढ़ने के लिए

Read Also ( और पढ़े )



 


अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे