Ritesh Agarwal की OYO Rooms – महज 18 साल की उम्र मै बनायीं करोडो की कंपनी

                                           image source 


दोस्तों कहते है “उम्र को अगर हराना है, तो शोक ज़िंदा रखिये, घुटने चले या ना चले मन उडाता परिन्दा दिखे “ आपकी उम्र कितनी भी क्यों ना हो, उडने का एक हौसला होना जरुरी है ऐसा ही कर दिखाया है OYO के फाउंडर Ritesh Agarwal ने दोस्तों आज हम जानने वाले है oyo ki kahani – oyo की कहाँनी – Ritesh Agarwal


OYO क्या है ? – OYO kya hai ? Ritesh Agarwal net worth 


यह काहानी है Ritesh Agarwal की जिन्होने महज 18 साल की उम्र मै ही भारत की सबसे बड़ी हॉस्पिटयालिटी कंपनी की नीव रख दीं थी. हालाकी आज देखा जाये तो कंपनी को चालू हुए बहोत साल बीत चुके है. लेकिन उनका सफर बहोत रोमांचक और चुनौती पूर्ण राहा है, उन्होने आज तक जितने उत्साह के साथ काम किया उसका आज यह नतीजा मालून होता है की इंडिया के साथ साथ चाइना, मलेसिआ, यूनाइटेड किंगडम, यूनाइटेड अरब सऊदी अरेबिया, फिलीपींस, Indonetia और जापान जैसे देश मै भी उनकी कंपनी ने उचाईयो के कगार पर रख दिया है. इन देशो के 500 से भी ज्यादा शहर के अन्दर चार लाख पचास हजार रूम्स से भी ज्यादा रूम्स oyo के उपलब्ध है. Ritesh Agarwal net worth update 2020 – ( 1.1 Bilion dollers – IND Rs. 7, 800 crore 
रितेश अग्रवाल इनकम ( 1.1 Billion Dollers ) इंडियन रुपया – 7, 800 करोड़. चलिए दोस्तों जानते है उनका शुरवाती सफर 


OYO ki kahani shurvati safar 
OYO रितेश अग्रवाल बायोग्राफी 


कहानि की शुरवात होती है 16 नवंबर 1993 से जब ओड़िसा के छोटे से गाव से कटक से रितेश अग्रवाल का जन्म हुवा, उनकी शुरवाती पढ़ाई स्कारेद हार्ड स्कूल से हुई. IIT के एंट्रेंस एग्जाम के लिए वह कोटा गए. यहाँपर आने के बाद वह पढ़ाई के साथ साथ दोस्तों के साथ भी बाहर घूमने जाया करते. जब वह कोटा मै रहते थे तब उन्होने एक किताब भी लिखी है उसका नाम है A complete encyclopedia of Top 100 engineering colleges ( अ कम्पलीट इनसाइक्लोपीडिया ऑफ़ टॉप 100 इंजीनियरिंग कॉलेज ) महज 16 साल के उम्र मै ही मुंबई के टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ फंडामेंटल रीसर्च, एशियाई साइंस कैंप मै रितेश जी को नामांकित किया गया था. 


                                           image source 


यह एक ऐसा प्लेटफार्म था की जहाँ पुरे एशिया के स्टूडेंट सोशल प्रॉब्लम पर बाते करते और साइंस टेक्नोलॉजी की मदत करते है. रितेश जी को अलग अलग बुक्स बिसनेस हो स्टार्टअप हो पढ़ने के बहोत शोक था इसके साथ ही वह मुंबई, दिल्ली मै जो भी साइंस सम्मेलन होता था तो वह उसे जरूर अटेण्ड करते. 


इसके साथ वह ट्रवेलिंग जब करते तो उन्हें हॉटेल खोज कर रखना पडता उनमे उनको बहोत दिक्कत होती थी और यही से उनके जिंदगी का वह सफर चालू हुवा जो एक दिमाग़ के idea ने कर दिखाया. ऐसे ही पैसो की बचत करते करते बिसनेस का भी idea आ गया. इसी के साथ ही airBNB से भी प्रभावित हुवे. airBNB भी सनफ्रान्सिसीको की OYO की तरह ही एक कंपनी थी.

 
इसी के साथ ही साल 2012 मै रितेश ने अपने पहले स्टार्टअप ORAVEL STAY ( ओरवेल स्टे ) की शुरवात की इस कंपनी का मुख्य उद्देश्य था कम दाम पर लोगो के लिए कमरे उपलब्ध करना जिसे ऑनलाइन भी बुक किया जा सके. इस कंपनी को शुरू करने से पहले ही वह इतने तैयार थे की उन्हें पहले से ही पता था की कैसे कैसे फंडिंग लेनी है और कैसे आगे बढ़के जाना है. 


यह वजह रही थी की उनको VENTURE NURSERY से 30 लाख का लोन मिला, अब रितेश के पास आगे बढ़ने के लिए पर्याप्त पैसे थे. इसी पैसो से कस्टमर के लिए ORAVEL STAYS बनाया यह ऐसा स्टार्टअप था की कस्टमर के लिए कम पैसो मै हॉटेल तो बुक किया जाता था, लेकिन प्रॉब्लम यह थी की सुख सुविधाएं और फैसिलिटी पर ध्यान नही दिया जा राहा था. 


इसीलिए ORAVEL STAYS की लोकप्रियता कम होती गई इसके चलते रितेश अग्रवाल जी ने उसमे से कमिया निकालकर उसमे काम किया ओर ORAVEL STAYS को OYO रूम्स मै बदल दिया और इसमे बहोत सारी सुविधावो का ध्यान रखा गया. फिर रितेश अग्रवाल इसके बाद कभी नही रुके भारत मै धीरे धीरे बहोत आगे तक कंपनी चलती गई और कही कंपनी से OYO को फंडिंग मिलती चली गई और आज OYO रूम ना केवल भारत मै बल्कि बहोत सारे देश के शहर मै है और बहोत प्रसिद्ध है. 


एक छोटे उम्र से अपने दिक्कत को एक बिसनेस के रूप मै बदलकर कर रितेश अग्रवाल ने महज छोटे उम्र मै बता दिया की कोई भी काम की उम्र नही होती बस वह जज्बा होना जरुरी है. 


Ritesh Agarwal ji ke quotes 
रितेश अग्रवाल जी के विचार 

“You must be willing to stretch 
Out of your comfort zone, take risks 
And be emotional about your venture and the Stakeholders involved”
– Ritesh Agarwal

कोई रिस्क्स न लेना ही सबसे बड़ा रिस्क है”
– Ritesh Agarwal

“Don’t worry about being 
Successful but work towards 
Being significant and the success 
Will naturally follow”
– Ritesh Agarwal


अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे