Jeff Bezos एक गराज से लेकर Amazon तक

    image source by google


Jeff Bezos दुनिया मै हम कोनसा भी काम करने जाते है तो उसका लोग बहोत विरोध कर आपका मनोबल कम करते है। पर इसमे वही आगे जाता है जिसका इरादा मजबूत और खुद पर विश्वास हो, दोस्तों हम आज ऐसे ही व्यक्ति के बारे मै जानने वाले है जो आपने जिंदगी मै आज तक नही रुके उनका नाम है Jeff Bezos 


यदि आप जिद्दी ना हो तो आप जल्द ही हार मान लोंगे ” कहाँ है, दुनिया के सबसे रिचेस्ट पर्सन Jeff Bezos जो फाउंडर है amazon के, amazon एक ऐसा नाम है जिससे कोई अनजान नही है, आज से लगभग 23 साल पहले लॉन्च हुई e-कॉमर्स वेब साइट आज दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलइन रिटेलर कंपनी है।


Jeff Bezos का शुरवाती सफर 
 
Jeff Bezos का जन्म अल्बुकेरके, न्यू मेक्सिको, यूनाइटेड स्टेट मै हुवा। उनकी माँ का नाम जैकी था, जब jeff का जन्म हुवा तब उनकी माँ नाबालिग 17 साल की थी। उनके पति तीन साल मै ही jeff को और जैकी को छोड़ कर चले गये थे। jeff को बचपन से ही खोल फिटिंग के काम मै बड़ी रूचि थी। घर का कोनसा भी सामान हो वह खोल कर रख देते। 

उनकी माँ ने फिर मिगुअल बेजोस से शादी की और jeff सौतेले पिता के देख रेख मै पले पढ़े, जब jeff थोड़े बड़े हुए तो इलेक्ट्रॉनिक मै उनका इंटरेस्ट बढ़ता चला गया। बचपन मै jeff के सौतेले भाई इनके कमरे मै बिना बताये ना घुसे इसके लिए उन्होने एक इलेक्ट्रिकल अलार्म बनाया था तब jeff फोर्थ क्लास मै थे। जब पहली बार  उनके स्कूल मै मेनफ़्रेम कंप्यूटर आया था। 

   image source by google



वहाँ के टीचर्स को कंप्यूटर चलाना आता ही नही था, तब jeff ने अपने दोस्तों के साथ मैन्युअल पढ़ पढ़ कर कंप्यूटर चलाना सिख लिया, उनके इसी टैलेंट की वजह से उन्हें यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा से सिल्वर नाईट का अवार्ड और स्कॉलर्शिप मिली। उन्होने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ़ साइंस कंप्यूटर साइंस, और इंजीनियरिंग की कॉलेज से ग्रेजुएट होने के बाद 1986 मै उन्हें कंप्यूटर कंपनी मै नौकरी मिल गई। 

Jeff को किताबों से बहोत लगाव था, वह हमेशा कुछ ना कुछ पढ़ते रहते थे। अप्रैल 1994 मै एक दिन नेट सर्फिंग करते समय पता चला की वेब यूजर की संख्या हर साल 2300% से बढ़ रही है। इसी वक्त उन्हें आईडिया आया क्यों ना ऑनलइन बिसनेस किया जाये, और अपने युक्ति को साकार करने के लिए इतनी अच्छी नौकरी छोड़ दीं यक़ीनन यह जोखिम भरा फैसला था। 


Amazon की नीव 

यह वक्त वह था जब उनकी नयी नयी शादी हुई थी। अब सवाल यह था की नेट पर बेचा क्या जाये, इसी के बिच उन्हें सुझाव आया क्यों ना ऑनलइन book सेल्लिंग की जाये,1994 मै उन्होने अपनी ऑनलइन कंपनी की स्थापना की और 1996 मै इसकी शुरवात कर दीं, Jeff पहले इसका नाम GADBARA.COM रखना चाहते थे। लेकिन तीन महीने बाद बदलकर amazone.com रख दिया। 

उन्होने इसका नाम a लेटर से इसलिए रखा की सर्च अल्फाबेटिकल आर्डर मै यह जल्दी सर्च हो जाये और उन्होने संसार की सबसे बड़ी नदी का नाम इसलिए चुना क्युकी वह दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलइन book सेलर कंपनी बनाना चाहते थे। उनकी वेब साइट ऑनलइन के रूप मै शुरू हुई थी, लेकिन DVD, सॉफ्टवेयर जैसे सामान बेचने लगी। Jeff ने अपनी कंपनी की शुरवात अपने गराज से शुरू की थी जहाँ सिर्फ तीन कंप्यूटर और तीन कर्मचारी थे। 
 
ऑनलइन बेचने का सॉफ्टवेयर खुद Jeff ने ही बनाया था। 3 लाख डॉलर की शुरवाती इन्वेस्टमेंट आपने माता पिता ने लगायी, कंपनी के स्थापना के वक्त Jeff के पिता ने उनसे यह सवाल पूछा था की “इंटरनेट क्या होता है?” तब उनकी माँ ने जवाब दिया था “हम इंटरनेट पर दाव नही लगा रहे, हम तो अपने बेटे पर दाव लगा रहे है” माता पिता का यह विश्वास शत प्रतिशत सही साबित हुवा। 

देखतेही देखते कंपनी बहोत चलने लगी सन 2000 मै माता पिता अरब पति बन गये क्युकी उनकी इन्वेस्टमेंट 6% थी। 16 जुलै 1995 को Jeff ने अपने वेबसाइट पर पुस्तके बेचना शुरू कर दिया था। पहलेही महीने मै अमेरिका के पचास राज्य 41 अन्य देशो मै पुस्तके बेच डाली, लेकिन यह काम आसान नही था जमीन पर घुटनो के बल बैठकर पुस्तकों को पैक करना पडता था। पार्सल देने के लिए खुद Jeff भी जाया करते, एक बार पुस्तकों की पैकिंग करते समय Jeff ने अपने दोस्तों को कहाँ,  आपको पता है इस काम को आसान बनाने के लिए क्या करना चाहिए? तब साथी ने जवाब दिया “हा हमें घुटनो के निचे तकिया रख देना चाहिए” तब Jeff हस पड़े और अगले ही दिन उन्होने कुछ टेबल खरीदी ताकि उनपर किताबें पैकिंग की जा सके। 

Jeff की मेहनत रंग आने लगी थी सितम्बर तक हर हफ्ते 20,000 डॉलर की बिक्री होने लगी 2007 तक amazone.com ऑनलइन बिक्री का जाना माना ब्रांड बन चूका था। लेकिन कंपनी का टर्निग पॉइंट तब आया जब 2007 मै amazone किंडर book बाजार मै उतरा जिसके माध्यम से पुस्तकों को तुरंत download कर के पढ़ा जा सकता था। 

नवंबर 2007 मै किंडल मार्केट मै उतारने के 6 घंटे अन्दर ही किंडल का सारा माल बिक गया और अगले पांच महीने तक आउट ऑफ स्टॉक राहा था। किंडल लोगो के लिए बहोत ही फायदेमंद राहा क्युकी इससे कोई भी तकलीफ नही थी और अस्थायी ग्राहक भी बनने लगे। तीन कर्मचारी से शुरू हुई कंपनी आज वहाँ 5 लाख से ज्यादा कर्मचारी काम करते है। 

दोस्तों आज जेफ Centibillionaire बन चुके है। क्या होता है Centibillionaire जो व्यक्ति 100 से ज्यादा बिलियन डॉलर्स पार करने वाला है उस व्यक्ति को कहाँ जाता है,और Jeff Bezos की 178 बिलियन डॉलर्स उनकी इनकम है। 


Jeff bezos ने खरेदी की कंपनियां

1. WHOLE FOODS
2. TWITCH
3. AUDIBLE
4. ZAPPOS
5. IMDb
6. The washington Post

दोस्तों एक आदमी जिसने एक जमीन के गराज से चालू किये बिसनेस को आज इस मुकाम तक पंहुचा दिया है। 


अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे