Elon Musk ने कैसे – रेन्ट से रहकर खड़ी की Space -X पढ़कर हो जाएंगे दंग

                Image source by google 


Elon Musk दोस्तों आज हम ऐसे व्यक्ति के बारे मै बात करेंगे जिनकी काहानी सुन आप भी मोटिवेट और सोचने पर मजबूर हो जाएंगे। इनका सफर देख बदल जाएंगी आपकी सोच दोस्तों चलिए जानते है उनका सफर 



Elon Musk 

Elon Musk का जन्म 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका की राजधानी प्रिटोरिया मै हुवा था। उनके पिता इंजीनियर थे और माँ एक मॉडल थी। जब Elon 9 साल के थे तब इनके माता पिता का डिवोर्स हो गया था।

Elon प्रिटोरिया मै अपने पिता के साथ रहने लगे, उनके दो छोटे भाई बहन भी थे। Elon बचपन से ही शर्मीले और किताबों मै बहोत रूचि रखते और 10 साल की उम्र तक उन्होने बहोत सारी ऐसे किताबें पढ़ ली थी जो कॉलेज स्टूडेंट भी नही पढ़े पढ़ते, 12 साल के Elon ने घर पर रखे कंप्यूटर पर बुक्स की मदत से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीखी। 

उसके माध्यम से उन्होने एक विडिओ Game बना लिया। बेसिक लैंग्वेज मै बने इन Game को 500 $ मै बेच दिया और अपनी स्कूल की फीस इसी पैसो से भरी। स्कूल मै फीस तो भर दीं थी लेकिन स्कूल मै कुछ बचे उनसे मारपीट करते थे, एक बार उन सभी बच्चों ने मिलकर Elon को इतना मारा की वह बेहोश हो चुके थे। 
इसके बाद भी उनका मन नही भरा उन्होने ने Elon को सीढ़ियों से निचे फेक दिया। इसके बाद कही दिनों तक  हस्पताल मै रहकर उनकी यादाश वापस आगई, इस घटना के बाद आज भी उन्हें सास लेने मै तकलीफ होती है। इसके बाद 17 साल की उम्र मै उन्होने अफ्रीका मै ही अपनी High स्कूल की पढ़ाई पूरी की इसके बाद वह अपने माँ के पास कनाडा रहने चले गये और वही की नागरिकता उन्हें मिली।

यहा पर उन्होने University ऑफ़ Pennsylvania  से बैचलर डिग्री फिजिक्स मै और वॉर्डन स्कूल ऑफ़ बिसनेस से इकोनॉमिक्स की डिग्री ली। पैसो के कमी पूरी करने के लिए Elon ने कनाडा मै कही छोटी नोकरिया की, यहाँ तक की उन्होने नाले साफ करने तक नौकरी की, इसके बाद 1995 मै फिजिक्स मै Phd करने के लिए वह कनाडा से USA शिफ्ट हो गये और स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी मै एडमिशन ले लिया उनके यहां आते ही उन्हें इंटरनेट बूम का अंदाजा हो चूका था। 

Elon Musk इंडस्ट्री की नीव 

सिर्फ दो दिन मै Phd से ड्रॉप आउट ले लिया और अपना ध्यान इंटरनेट मै लगाया। 1995 मै ही Elon Musk और उनके भाई किम्बल musk ने अपने पिता से मिली संपत्ति से एक online सॉफ्टवेयर कंपनी Zip 2 बनायीं इसी कंपनी को दोनों भाई ने मशहूर कंपनी कॉम्पैक को 307 मिलियन डॉलर बेच दीं। 

Elon को इसका 7% लगभग 22 मिलियम डॉलर मिले लेकिन Elon के दिमाग़ मै कुछ और था। उन्होने  उन पैसो से एक नयी वेबसाइट बनायीं X.com जो ऑनलइन पेमेंट वेबसाइट थी। उसका नाम बदलकर PayPal कर दिया। जुलै 2002 मै ebay.com ने 1.5 बिलियन डॉलर्स मै खरीद लिया। 

जिसमे मे Elon musk को 1.5 बिलियन डॉलर मिले लेकिन इतने से वह नही रुके वह ह्यूमैनिटी को धरती के बाहर बसाने के पीछे लग गये उन्होने यह सारे पैसे वीरियस कंपनी मै इन्वेस्ट कर दिया। लॉसएंजिलिस जाकर दोस्तों के यहाँ पर रेन्ट पर रहने लगे।


Elon Musk SPACE – X 

जब वह रिटर्न्स मै पैसे आये तो उन्होने SPACE X कंपनी बनायीं जो एक प्राइवेट कंपनी थी। जिसका एक यह काम था की (मंगल ग्रह ) पर जाके इंसानी बसती को बसाना। उन्होने स्पेस साइंस की कोई डिग्री नही ली थी लेकिन अरोनॉटिक की किताबें पढ़ कर इतनी नॉलेज ले ली की खुदकी प्राइवेट कंपनी स्पेस X बना दीं।


उन्होने ने बहोत खोजे की रॉकेट को देखने रशिया मै जा कर देखे मगर वह बहोत ही मेहेंगे थे। उन्होने ऐसा कदम उठाया जो कोई प्राइवेट कंपनी सोच भी नही सकती उन्होने खुदका प्राइवेट रॉकेट बनाने की ठान ली थी। अपने रॉकेट्स स्पेस मै भेजने की तैयारी की और एक के बाद एक लगातार तीन रॉकेट स्पेस तक छोड़े मगर एक भी नही पहुंच सका. 

इसमे उनको बहोत नुकसान उठाना पड़ा उन्होने चौथे रॉकेट की तैयारीया चालू की, कही लोगो ने उनपर टिप्पणी की पर उन्होने ने अपने काम पर ध्यान देकर बदलाव करते चले गये। आखिरकार वह दिन आ गया जब स्पेस X ने अपना रॉकेट बना लिया और वह दुनिया की पहली एक प्राइवेट कंपनी बन गई। 

सारी दुनिया सोचने लगी की जिन्होने कभी स्पेस की पढ़ाई तक नही की थी उसने स्पेस लॉन्चिंग शुरू कर दीं। जो अब NASA के इक्विपमेंट को कम कॉस्ट मै स्पेस तक पहुँचाती है।

दोस्तों हमारा इसरो भी कम नही है हाल ही मै 104  सॅटॅलाइट छोड़ इतिहास रच दिया है। स्पेस X ने ऐसा रॉकेट बनाया है जो बाद मै उपयोग कर एक के बाद एक भेज सकते है, स्पेस X ने पुरे दुनिया मै एक अविष्कार किया है। इसके बाद Elon कभी नही रुके 2004 मै टेस्ला कंपनी मै इन्वेस्ट किया जो एक इलेक्ट्रिकल कार बना रही थी। 

वह उनके विज़न से टेस्ला मोटर्स के CEO बन गये,  उन्होने पहलेही भाप लिया है, की आने वाला समय इलेक्ट्रिकल कार्स का है। इसके बाद उन्होने ने सोलर सिटी कंपनी की नीव रखी जो US की सेकंड लार्जेस्ट सोलर एनर्जी मेकिंग कंपनी है। बाद मे उन्होने एक प्रोजेक्ट की शुरवात की Hyperloop जो पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट है। जिसमे लोग बैठ का 1000 Km की स्पीड से ग्राउंड लेवल पर सफर कर पाएंगे ये वैक्यूम और मैग्नेटिक पर बना पहला प्रोजेक्ट है, अभी इसपर काम चल राहा है।


दोस्तों आप अभी समझ चुके होंगे की एक इंसान चाहे तो कितनी भी  कंपनियां खड़ी कर सकता है बस उसके पास Elon musk जैसा इरादा हो। 

अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे