हिन्दुस्तानी भाऊ का यह सफर जानकर आप हो जाएंगे दंग चलिए जाने

                                                          image source 


Hindustani Bhau 


दोस्तों जैसा की हम जानते है, आज कल की दुनिया मै सोशल मीडिया का उपयोग बहोत हो राहा है। इसी के बिच कुछ लोग ऐसे होते है, जो अपने स्टाइल से बहोत आगे तक निकलते है। ऐसे ही हमारे सारे भारत मै विख्यात है हिन्दुस्तानी भाऊ दोस्तों आज हम जानने वाले है की वह इतने बड़े सोशल मीडिया की इस दुनिया मै कैसे बने हिन्दुस्तानी भाऊ 



हिन्दुस्तानी भाऊ ऐसे लोकप्रिय बन चुके है, की उनको आज बच्चा बच्चा जानता है। उनका एक डायलॉग है वह काफ़ी फेमस डायलॉग है ” पहली फुर्सत मै निकल ” जैसे उनकी स्टाइल लोगो को बहोत पसंद आयी है, इसलिए उन्हें लोग बहोत प्यार करते है। हिन्दुस्तानी भाऊ अपने देश से बहोत प्यार करते है। कोई हमारे देश को अगर कुछ गलत बोलता है, तो उसे कुछ डायलॉग तो सुनने ही पड़ते है। यही उनकी स्टाइल लोगो को प्रभावित करती है। हिन्दुस्तानी भाऊ के नाम से जाने जाने वाले उनका निजी नाम विकास जयराम पाठक है। 

  

विकास जयराम पाठक हिन्दुस्तानी भाऊ 
Hindustani Bhau Ka Jivan 


उनकी कहाँनी चालू होती है, 7 अगस्त 1983 को मुंबई मै उनका जन्म हुवा। विकास जी ने मुंबई मै ही स्कूल पढ़ाई की, पर कुछ ही वर्ष के भीतर उनके पिता की नौकरी चली गई। घर की आर्थिक स्तिथि बहोत कमजोर हो चुकी थी। उनके पास स्कूल के Book खरीदने तक पैसे नही थे। यह सब देख उन्होने अपनी पढ़ाई छोड़ दीं, घर मै पैसे देने के लिए बाहर छोटे छोटे जॉब करने लगे। 



इसी के बिच उन्हें जिमखाना मै बॉल बॉय का काम मिला, जिसके लिए उन्हें दिन के 20 रुपये मिला करते थे। स्कूल के टाइम पर काम से लौटते थे और वह 20 रुपये अपनी माँ को दे देते थे। वह इसी वक्त इस्सलिये आते क्युकि उन्होने उनकी माँ को नही बताया था, की वह काम पर जाते है। इस टाइम विकास जी की उम्र सिर्फ 12 साल की थी, और जब वह खेलने के बहाने से बाहर जाते थे, तब बाहर उसी भी वक्त काम के लिए जाया करते। 


                                                 image source 


इस तरह से विकास जी ने बाहर की दुनिया को जानना शुरू किया था। समय के साथ साथ उनके काम बदलते गए उन्होने ट्रैन मै अगरबत्ती बेचीं और साड़ी शॉप मै काम करा, इसके बाद उन्होने एक गराज मै भी काम किया है। धीरे धीरे उन्होने एक जौर्नालिस्ट बनने का प्रयास किया और इसी के बिच उनको क्राइम रिपीर्टर के तौर पर नौकरी मिल गई। इससे उनकी आर्थिक स्तिथि मजबूत होने लगी, इसके चलते उनकी ज़िन्दगी पटरीपर आयी। 


और उन्होने इसी के बिच शादी कर ली। उनके बेटे आदित्य के नाम से एक N.G.O भी चलाते है। उन्होने एक एम्बुलेन्स गरीबो के लिए 24 घंटे के लिए फ्री सुविधा मै लगा दीं है। एक बार वह संजय दत्त की फ़िल्म वास्तव देखने गए, वह फ़िल्म उनको बहोत पसंद आयी और वह तभी से संजय दत्त के फैन बन गए और उनमे अभी भी संजय दत्त की छबि झलकती है। 2019 मै जब पुलवामा अटैक हुवा था, तो बाहरी youtuber बहोत गलत गलत देश के खिलाफ बोलते तभी हिन्दुस्तानी भाऊ का सफर चालू हुवा। 


उन्होंने सबसे पहले अपना एक YOU TUBE चैनल खोला था, वहाँ से उनका पहला सोशल सफर चालू हुवा। उनका विडिओ का लक्ष्य यही था, की जो लोग हमारे देश को भला बुरा कहते है और भाऊ को यही बात अच्छी नही लगी। की कोई भी हमारे देश के बारे मै कुछ भी बोल दिया करता और ना कोई उसपर एक्शन लेता ना कोई बोलता यही बात हिन्दुस्तानी भाऊ को खटकती थी। 


तो उन्होने यह सफर you tube से और अपने फोर व्हीलर मै बैठकर देशविरोधी लोगो को अपनी स्टाइल मै समझाने लगे। देखतेही देखते बहोत सारे YOU TUBE चैनल ही बंद कर दिए। दोस्तों आपको यह लगता होंगा की हिन्दुस्तानी भाऊ तो गालिया देते है, पर वह आज नही बोलते तो ना कोई सामने आता और हमारे देश के खिलाफ कुछ लोग टिप्पणियां करते ही रहते। आज उन सब लोगो की बोलती हिन्दुस्तानी भाऊ ने बंद करदी। इससे यह पता चलता है की उनका देश के प्रति कितना लगाव है।


यही स्टाइल लोगो को उनकी पसंद आती चली गयी लोगो ने भी उनको बहोत प्यार दिया। लोकप्रियता इतनी बढ़ गई की नेशनल टेलीविज़न पर आने वाला शो BIG BOSS मै उनको जगह मिली और वहाँ पर भी उन्होने बहोत ऑडियंस का दिल जीता है। 


आज हिन्दुस्तानी भाऊ को सारा देश जानता है और उनको देख लोग अपने दिल की आवाज मानते है। 


अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे