Ed Shareen का बेस्ट सिंगर तक का सफर

दोस्तों आज हम सिंगर को अपने मुकाम तक पहुंचने तक का सफर जानते है। इसमे आप को अपने  जीवन मै और कुछ नया सिखने को मिलेगा। तो चलिए दोस्तों जानते है Ed Shareen जो सारे देश मे पॉपुलर सिंगर के रूप मै जाने जाते है। 


ऐसे इंसान जिन्होने बहुत ही कम समय मै अपनी जादुई आवाज से अपनी जगह बना ली है। दोस्तों म्यूजिक इंडस्ट्री का सबसे बड़ा अवार्ड चार ग्रैमी अवार्ड उन्होने ने जीते है। 


दोस्तों Ed Shareen बचपण से ही बहोत हकलाकर बोलते थे। शुरवात मै ही उन्हें स्कूल मै बुरी तरह से चिढ़ाते थे। हालाकी की इसका डटकर मुकाबला करते हुए ऐड शरीन कैसे बने लोगो के चाहते सिंगर चलिए जानते है। 


चलिए जानते है उनका जीवन 


उनका जन्म 17 फेब्रुअरी 1991 को जब इंग्लैंड के हैलिफैक्स जगह पर ऐड शरीन का जन्म हुवा। उनके पिता का नाम जॉन शीरन वह लेक्चरर है और माता का नाम इमोजेन है वह ज्वेलरी डिज़ाइन का काम किया करती थी। इसके अलावा उनके एक भाई भी है उनका नाम मैथ्यू है वह एक कंपोजर है। 


जन्म के कुछ ही समय बाद ऐड शरीन की पूरी फॅमिली इंग्लैंड के ही फ्रंलिंगम शहर शिफ्ट हो गई। वही पर शरीन ने अपनी पढ़ाई कम्पलीट की और सिर्फ 4 साल के उम्र मै ही वह लोकल चर्च मै गाया करते थे। उनके पिता जॉन शरीन उनमे म्यूज़िक का इंटेरेस्ट देखते थे। अक्सर उन्हें अपने साथ म्यूजिक कंसोर्ट मै ले जाया करते थे।


हालाकी शरीन के साथ शुरवात से यह प्रॉब्लम थी। की वो बहोत ही हकलाकर बोला करते थे उनके स्कूल मै भी उनके दोस्त उनको परेशान किया करते थे। लेकिन एक बार शरीन के पिता ने उनके लिए अम्लम (संगीतकार) के गाने की CD लाकर दी, इसमे उन्होने रैप को सुनकर वह अचंभित हुए वह सोचने लगे की इतने स्पीड से कोई कैसे बोल सकता है। 


धीरे धीरे अम्लम के गाने सुन कर और स्पीच थेरपी की मदत से अपने  बोलने की परेशानी से निजाज पा लिया।  वह जब 11 साल के थे उनकी मुलाक़ात दमियन राइस नाम के सिंगर से हुई थी। उन्होने ही शरीन को सिंगर मै करियर बनाने के लिए मोटिवेट किया था। अब एक सफल सिंगर बनने के लिए शरीन ने नेशनल युथ थिएटर, एक्सेस एंड म्यूजिक जैसे कही इंस्टिट्यूट मे संगीत की पढ़ाई की और जब म्यूजिक मै उनकी अच्छी खासी समझ हो गई तब शरीन 2008 मै लंदन शिफ्ट हो गए।

वहाँ इन्होने कही अलग अलग जगह पर परफॉरम करना शुरू कर दिया। साथ ही वे अपने एल्बम पे भी काम करते थे। हालाकी लन्दन आने के पहलेही उन्होने अपने दो एल्बम रीलीज़ कर चुके थे लेकिन उन्हें वह कामयाबी नहीं मिली थी जिनके वह हक़दार थे। 


कुछ दिन लंदन मै रहने के बाद शरीन 2010 की एक रात लोस्स एंजिलस गए और यहाँ पर उनके शानदार परफॉरमेंस को देखते हुए अमेरिकी एक्टर जैमी फॉक्स उनसे काफ़ी इम्प्रेस हुए। उन्होने उनका रिकॉर्डिंग स्टूडियो इस्तेमाल करने के लिए अनुमति देदी। धीरे धीरे उन्होने अपना एक सिंगल देबू रीलीज़ किया जो की बहोत ही हिट साबित हुवा और कई देश के टॉप 10 के लिस्ट मै भी छाया रहा।


इसके बाद शरीन ने 2011 मै ही अपना एक स्टैण्डर्ड प्लेय you need me, i dont need you रीलीज़ किया। इस गाने को लोगो ने खुप पसंद किया था। इसके चलते उनको अपनी पहचान मिली। उनके कामियाबी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की सिर्फ UK मै 6 महीने के अन्दर 1,021,072 कॉपी बिकी थी। 


इसके बाद एल्बम पे एल्बम देते रहे, अभी भी उनके गानों का इंतज़ार किया जाता है। 2017 का shape of you पूरी दुनिया मै छा गया इस song के लिए भी उनको ग्रैमी अवार्ड से सन्मानित किया गया। अभीभी उनके song की fans राह देखते रहते है। 


दोस्तों इसमे हमें यह सिख मिली है की कमियों को नजर अंदाज करो या उनमे सुधार करो अगर उन्होने हकलाने की वजह चुन ली होती तो वो आज इस मुकाम पर नहीं होते। 

धिक जानकारी के लिए जुड़े रहे