Corona वैक्सीन क्या रूस ने बना ली ? जाने क्या phase होते है

                                Image source by google 


corona ke phase kya hote hai

kya rassia ne banayi vaccine


दोस्तों कोविद -19 कोरोना वायरस को आये कही महीने बीत चुके है सारी दुनिया मै महामारी फ़ैल चुकी है। और सारी दुनिया के बड़े बड़े देश वैक्सीन के बनने का दावा करने लगे है। कोरोना ने करोडो लोगो के जीवन मै उथल पुथल मचा रखी है करोडो लोग अपनी जॉब खो चुके है।  अब सब चाहते है की वैक्सीन जल्द से जल्द बाजार मै उपलब्ध हो इसी के बिच रूस के वैक्सीन के आने वाली खबर ने दुनिया के लोगो के बिच एक अच्छी खबर सुनने को मिली है। इसके बारे मै हम आज जानने वाले है दोस्तों..


बहोत सारे source के खुलासे पर ऐसा सामने आया है की रशिया की सबसे बड़ी जो न्यूज़ एजेंसी TASS उंन्होने जो दावा किया की रशिया ने वैक्सीन बनायीं है। और उनके पोर्टल पर ऐसा लिखित है Russian vaccine had been successfully completed 
पर दोस्तों इसमे कितनी सचाई है यह जानते है।


कितने phase से गुजरना पडता है 



वैक्सीन बनने की तरीके मै कई Phase से गुजरना पडता है। किसी भी वायरस से लड़ने के लिए वैक्सीन बहोत ज्यादा जरुरी होती है। कोविद 19 अगर खत्म करना है तो without वैक्सीन हम खत्म नहीं कर सकते इसके लिए वैक्सीन बनानी ही पड़ती है। अभी एक यही तरीका है वैक्सीन बनायीं जाये और लोगो तक पहुचायी जाये, इम्युनिटी बढ़ जाये अब उसके फेसेस को समझते है। 

दोस्तों वैसे देखे तो वैक्सीन को बनने मै 10 से 15 साल तक लग सकते है ऐसे बहोत सारी बीमारिया है जिसका अभी तक वैक्सीन नहीं बनी जैसे HIV. सबसे पहले वैक्सीन मै प्री क्लीनिकल ट्रायल होता है। इसमे जानवरो पर वैक्सीन का प्रयोग किया जाता है। और जब रिजल्ट अच्छे निकलकर आते है तो उसके बाद phase 1 शुरू होता है। phase 1 की बात करें तो इसमे कुछ लोगो को जिसे ग्रुप ऑफ़ वोलन्टीयर्स कहा जाता है। उनमे एंटीजन डाला जाता है उसके बाद वैक्सीन डाली जाती है। फिर यह स्टडी किया जाता है की इम्मून सिस्टम ने एन्टीबॉडीस बनायीं की नहीं बनायीं. 


अगर इसमे अच्छे रिजल्ट देखने आये तो इसे आगे लेके जाते है। और phase 2 मै और ज्यादा लोगो को दिया जाता है। अगर phase 2 मै कामियाबी मिलती है तो phase 3 किया जाता है। इस phase मै बहोत बड़ी पापुलेशन ली जाती है 20 हजार से 30 हजार तक लोगो को दिया जाता है। उसके वैक्सीन रेगुलेटरी अथॉरिटी के पास जाकर वह वैक्सीन को realease करता है।

 
इस दौरान सब तरह के टेस्ट होते है इसमे देखा जाता है की उसमे साइड इफ़ेक्ट तो नहीं है। और phase 2 मै वैक्सीन का responce जाना जाता है। ये काफ़ी लम्बा समय लेता है दोस्तों. 


मै आपको यह बताना चाहता हु की कोविद 19 की वैक्सीन ऐसा चला तो कब आएगी यह सवाल आपके मन मै चल रहा होंगा मै बताना चाहता हु की बहोत बड़े बड़े देश ने बिलियन पैसे लगा दिए है और कोरोना की वैक्सीन जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगी दोस्तों. 


                                 Image source by google 


राशिया के डिफेन्स मिनिस्ट्री से बयान आया है की 
उंन्होने सेफ वैक्सीन बना ली है कोरोना की राशिया की जो सचनोब यूनिवर्सिटी है वहा पर इस वैक्सीन को बनाया गया वहा पे गमालिया इंस्टिट्यूट ने इस वैक्सीन को बनया यहाँ पे सक्सेस्फुल ट्रायल हुवा है वह 18 जून को शुरू हुवा था। यह तारीख को 18 वॉलेंटियर्स को शमील किया गया था और इनको 15 जुलै को डिस्चार्ज किया गया था। और बाकि को 23 जून को वैक्सीन दी गई थी उनको 21 जुलै तक डिस्चार्ज किया जाएगा। 
जिनको डिस्चार्ज दिया गया उनके रिजल्ट काबिले तारीफ है ऐसा राशिया का कहना है। और आपको यहाँ पर एक बात बता दू यह पहला phase 1 है जैसा की हमने ऊपर समझा है। अभी राशिया को बहोत काम करना बाकि है। 


पर क्या WHO के हिसाब से वैक्सीन बनी है? 



WHO का इसमे कहना है की अभी तीन ऐसे वैक्सीन बनने की कगार पर है।  एक है चाइना की सांयनोफार्म की वैक्सीन phase 3 मै आ चुकी है। और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की अस्ट्रज़ेनिका वह भी फाइनल phase पर आ चुकी है। 
अमेरिका की मोडेना वह भी phase 2 मै चली गई है। 
और दोस्तों आपको बता दे हमारा भारत भी कोई पीछे नहीं है इसकी भी जल्द से जल्द वैक्सीन phase ट्रैक कर रही है। 



अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे