Andrew Carnegie – सक्सेसफुल बिज़नेस मेन की काहानी | successful Business Man life

दोस्तों एक आदमी अपनी शक्ति और योग्यता का केवल 25% ही इस्तेमाल करता है। दुनिया उन लोगो का सन्मान करती है जो अपनी योग्यता का 100% इस्तेमाल करता है। ये विचार है उस महान इंसान के जिसने बेहद गरीब परिवार मै जन्म लिया था। 


Andrew carnegie Net Worth | Andrew carnegie quotes | Andrew carnegie books in hindi Download | Andrew carnegie यूनिवर्सिटी 


उनका जीवन बहोत ही कठिनाईयों से भरा पड़ा था और बहोत परिश्रम करके सफलता की बुलंदियों तक पंहुचा था। जिसने अपनी सारी संपत्ति मानवता के लिए परोपकार कर दी हम बात कर रहे है अमेरिका के विश्वविख्यात अपने समय के सबसे अमीर व्यक्ति एंड्रू कार्नेगी जिन्हे अमेरिका का स्टील किंग कहा जाता है।  

Andrew carnegie शुरवाती जीवन सफर | wife 


                            बर्थ प्लेस.. 


एंड्रू कार्नेगी का जन्म 25 नवंबर 1835 को स्कॉटलैंड के दुन्फेरमलीन मै हुवा था। उनके पिता विलियम कार्नेगी जुलाये का काम करते थे उनकी माँ का नाम मार्गरेट कार्नेगी था, देश मै भुकमरी की वजह से बचपन मै ही अपने गरीब माता पिता के साथ अमेरिका चले गए और अमेरिका जाने के लिए भी उन्हें पैसे उधार लेने पड़े थे।


उन्होने अपनी पहली नौकरी बोबिन बॉय के रूप मै 13 साल के वक्त की जहाँ वह कपास फॅक्टरी मै काम करने वाले महिला को धागा पकड़ाने का काम करते थे। इसके बाद वह बचे हुए वक्क्त मै रोबर्ट बन्स जैसे writer के विचार और स्कॉटलैंड की इतिहास की पढ़ाई करते थे। 


कार्नेगी एक मेहनती लड़का था जिसे दुनिया मै अपनी पहचान बनानी थी। उसके बाद उंन्होने टेलीग्राफ मैसेंजर की नौकरी मिली उस समय जेम्स एंडरसन ने एक लाइब्रेरी खोली थी। इसकी खास बात यह थी ये काम करने वाले लडको के लिए शनिवार के दिन खुलती थी। 


शनिवार के दिन वह पूरा समय पढ़ने मै बिताते थे। उनकी कड़ी मेहनत करने की लगन ने जल्द ही उनके लिए अवसर ने दरवाजे खोल दिए थे। उसके बाद पेनसिलवेनिया रेलरोड मै जल्द ही उनको नौकरी मिल गई इसमे नौकरी का फायदा ये हुवा की उनको बिसनेस इंडस्ट्री का मॉडल समझ आया था। यही से चीजे बदलनी शुरू हो चुकी थी। 


 
  इंडस्ट्री की नीव 

उन्होने विशाल काय बिज़नेस की शुरवात रेल रोड से ही की थी।  सन 1860-65 मै अमेरिका मै गृह युद्ध छिड़ने  के कारण उन्हें बड़े पैमाने पर युद्ध का सामना तैयार करने का आर्डर मिला और मुनाफा होने पर उन्होने स्टील रोलिंग मील की स्थापना करके उन्होने स्टील साम्राज्य की नीव डाल दी थी। 


स्टील ओर ऑइल कंपनी मै इन्वेस्टमेंट शुरू कर दी धीरे धीरे बिसिनेस बढ़ने लगा और हालत यह बन गए साल 1890 के दौर मै कार्नेगी स्टील कारपोरेशन अपने दुनिया की सबसे बड़ी स्टील कंपनी बनी थी। इसके बाद कार्नेगी दुनिया के सबसे बड़े व्यक्ति मै से एक हो गए थे। 


अपने कारोबार को इस स्तर पर पंहुचा दिया था की  ब्रिटैन और दूसरे यूरोपियन देश भी स्टील प्रोडक्शन मै उनसे पिछड़ गए थे। कुछ समय बाद उनकी आयु बढ़ने के कारण बिज़नेस से रिटायरमेन्ट ले लिया और अपनी आधी से ज्यादा संपत्ति दान देदी जिसका फायदा केवल अमेरिका ही नहीं बल्कि दुनिया के सारे देश ने उनकी विश्वव्यापी उदारता का लाभ उठाया और कार्नेगी इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के नाम से एक यूनिवर्सिटी भी बनायीं है। 


उन्होने अपने देश के लिए महान योगदान दिया देश को महान बनाने के लिए बहोत बड़ा योगदान आधुनिक युग के इस महान दानवीर ने सन 1990 मै अपनी 90% यानी 350 करोड़ डॉलर की संपत्ति दान मै दे दी थी।  जिसकी किंमत आज 33,500 core रुपये के भी आगे  है। इस संपत्ति से ना जाने कितने स्कूल, कॉलेज, लाइब्रेरी रिसर्च सेंटर्स, शायद यह भी एक कारण है की अमेरिका एजुकेशन मै कई ज्यादा आगे निकल गया है।


दोस्तों ऐसे महान इंसान और उदार इंसान बहोत ही कम देखने को मिलते है। यहाँ आज हमें ये सिख मिली है की आदमी कितना भी बड़ा क्यों ना हो उसका दिल हमेशा उन्ही लोगो के लिए सोचे जिन्हे आज सच मै जरुरत है। यह एक ऐसी कहानि जो हमें मोटीवेट कर मानवता का पाठ पढ़ाने वाली है। 

Andrew carnegie books in hindi Download
Andrew carnegie बुक इन हिंदी 


Andrew carnegie quotes | Andrew carnegie जी के विचार 

* The Man who Dies thus Rich Disgraced. 

* Do your duty and a little more and the future will take care of itself. 

* As i grow older,  i pay less attention to what men say. I JUST watch what they Do.

* No man will make a great leader who want to do it all himself, or to get all the credit for doing it. 

* The first man get the oyster, the sencond man gets the shell.

Read Also ( और पढ़े )






अधिक जानकारी के लिए जुड़े रहे